पद्मावती विवाद: CM कैप्टन अमरिंदर सिंह ने किया विरोध, सिद्धारमैया ने किया समर्थन

 पद्मावती विवाद: CM कैप्टन अमरिंदर सिंह ने किया विरोध, सिद्धारमैया ने किया समर्थन
फिल्मी पर्दे पर उतरने से पहले विवादों में घिरी संजय लीला भंसाली की फिल्म 'पद्मावती' पर प्रमुख दलों में अलग-अलग राय है. कई राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने फिल्म पर अपनी राय जाहिर की है. भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने मूवी का विरोध किया है. जबकि कांग्रेस में इस फिल्म को लेकर नेताओं के राय बंटे हुए है.


कांग्रेस शासित पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने फिल्म पद्मावती पर राजपूत समुदाय की आपत्तियों का समर्थन किया है. अमरिंदर ने अपनी टिप्पणी में कहा कि कुछ भी ऐतिहासिक है तो कोई भी विरोध नहीं करेगा, मगर यहां वे ऐतिहासिक तथ्यों से छेड़छाड़ कर रहे हैं.

उन्होंने कहा कि मैं चित्तौड़ जाकर वापस आया हूं और मैंने वहां सारी चीजें देखीं तो यह इतिहास के साथ छेड़छाड़ है और कोई इसे स्वीकार नहीं करेगा. सिंह ने कहा कि और अगर समुदाय इसका विरोध कर रहे है तो विरोध करना उनका अधिकार है.

वहीं, कांग्रेस शासित कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने ट्वीट करते हुए लिखा कि मैं बीजेपी की इस असहिष्णु संस्कृति का निंदा करता हूं, कर्नाटक दीपिका के साथ खड़ा है. दीपिका हमारे स्टेट से एक विश्व प्रसिद्ध कलाकार हैं और हरियाणा के सीएम से अपील करता हूं कि वो दीपिका को धमकी देने वालों के खिलाफ कड़ी कानूनी कार्रवाई करें.

गौरतलब है कि फिल्म की शूटिंग के दौरान श्री राजपूत करणी सेना के सदस्यों ने जयपुर में भंसाली पर हमला कर उन्हें शारीरिक चोट भी पहुंचायी थी. पार्टी के मेंबर्स ने महाराष्ट्र में फिल्म के सेट में आग के हवाले कर दिया था.

वहीं, भंसाली ने अपनी ओर से साफ किया था कि फिल्म में राजपूत समुदाय की कोई बुराई नहीं की गई है. साथ ही, सभी धार्मिक भावनाओं को ध्यान में रखा गया है. मूवी पद्मावती में शाहिद कपूर और रणवीर सिंह भी मुख्य भूमिका में हैं. इस फिल्म को सीबीएफसी की हरी झंडी का अभी इंतजार है.



loading...

Facebook