Movie Review: सिमरन

 Movie Review: सिमरन
प्रोड्यूसर : भूषण कुमार, क्रिशन कुरमा, शैलेश आर सिंह, अमित अग्रवाल


डायरेक्टर : हंसल मेहता
स्टार कास्ट : कंगना रनोट, मार्क जस्टिस, सोहम शाह, मनु नारायण, अनीस जोशी
म्यूजिक डायरेक्टर : सचिन-जिगर
रेटिंग **

हंसल मेहता के डायरेक्शन में बनी फिल्म ‘सिमरन’ 15 सितम्बर को सिनेमाघरों में रिलीज हो गई. काफी समय बाद बॉलीवुड की क्वीन ‘कंगना रनौत’ इस मूवी के जरिए नजर आई हैं. तो कैसी बनी ये फिल्म आइए जानते हैं.

कहानी
फिल्म की स्टोरी एक गुजराती लड़की प्रफुल पटेल (कंगना रनौत) की है. जो तलाकशुदा है और अपनी फैमिली के साथ अमेरिका में रहती है. साधारण परिवार की प्रफुल एक होटल में हाउस कीपिंग का काम करती है. बिंदास प्रफुल अपनी ज़िन्दगी अपनी शर्तों पर जीने में विश्वास रखती है. जिसके कारण उसकी अपनी फैमिली से कम ही बनती है. वहीं प्रफुल के माता-पिता उसकी दोबारा शादी कराना चाहते हैं जिसके लिए वह रिश्ते तलाशते हैं. इस बीच एक दिन प्रफुल अपनी फीमेल कजन के साथ लॉस वेगास घुमने जाती है. जहां वह जुएं में अपनी पूरी कमाई हार जाती है.

अपने हारे हुए पैसे को फिर से पाने के लिए वह होटल वालों से उधार में पैसे लेकर फिर जुआं खेलती है और ये पैसे भी हार जाती है. फिर शुरू होता है स्टोरी में ट्विस्ट. क्योंकि अब बारी होती है कर्जा चुकाने की, जिसके लिए प्रफुल के पास पैसे नहीं होते. कर्जा चुकाने के लिए वह चोरी-चकारी व  बैंक लूटने का काम करने लगती है. इसी बीच कुछ उसकी लाइफ में समीर की एंट्री होती है जो उसे इश्क करता है और उससे शादी करना चाहता है. समीर को प्रफुल की इन बुरी आदतों के बारे में कुछ नहीं पता. लेकिन क्या होगा जब उसे मालूम चलेगा की वह एक चोर है? जिसे जुए और चोरी की आदत है. क्या समीर उससे शादी करेगा? क्या समीर के लिए प्रफुल अपनी बुरी आदतों को छोड़ देगी? क्या वो अपने उधार चुका पाएगी? ये जानने के लिए तो आपको फिल्म देखनी होगी.

फिल्म का म्यूजिक
फिल्म का कोई भी गाना दमदार नहीं है जो आपके जुबां पर आसानी से चढ़ जाए. वहीं फिल्म का सबसे उम्दा सॉन्ग 'सिंगल रहने दे' आखिरी में क्रेडिट देते वक्त रखा गया है. इसका बैकग्राउंड स्कोर भी ओके है.

अगर फिल्म में अभिनय की बात करें तो, एक बार फिर कंगना ने ये साबित कर दिया कि वो बॉलीवुड की क्वीन ऐसे ही नहीं कहलाती हैं. फिल्म में उन्होंने बेहद प्रभावशाली एक्टिंग की है. लेकिन फिल्म की कमजोर कहानी को ढोती हुई नजर आई. बेशक कास्टिंग यहां काफी कमजोर रही है जिसे और बेहतर किया जा सकता था.

हंसल मेहता बॉलीवुड में कई हिट फिल्मों के लिए जाने जाते हैं. फिल्म की शूटिंग विदेश की है. डायरेक्शन भी अच्छा है लेकिन अगर कहानी की बात करे तो फिल्म की कहानी काफी कमजोर है. फिल्म का फर्स्ट हाफ थोड़ी बोरिंग है. सेकंड हाफ भी बिखरी हुई लगती है. हंसल की ये फिल्म उनपर सवाल उठाती है क्योंकि उनके फैन्स को उनसे एक बेहतरीन फिल्म की उम्मीद थी जो कि पूरी नहीं हुई.

अगर आप कंगना रनोट को हद से ज्यादा पसंद करते हैं तो एकबार ट्राय कर सकते हैं, लेकिन अगर हंसल की फिल्मों के कायल हैं तो ये फिल्म आपको निराश कर सकती है.



loading...
 Movie Review: शेफ

Movie Review: शेफ

Facebook