Search

पद्मावत पर बैन खारिज, SC ने कहा- राज्य संभालें कानून-व्यवस्था

सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को पद्मावत पर तुरंत सुनवाई के लिए दायर पिटीशन खारिज कर दी। पिटीशन में कहा गया था कि सेंसर बोर्ड (CBFC) द्वारा एक कॉन्ट्रोवर्शियल फिल्म को दिए गए सर्टिफिकेट को कैंसल कर दिया जाए। कोर्ट ने इस बात से भी इनकार कर दिया कि फिल्म से किसी की जिंदगी, प्रॉपर्टी और कानून-व्यवस्था को गंभीर खतरा हो सकता है।

मेकर्स ने जमा की पद्मावत की फाइनल कॉपी, नहीं लगे 300 कट : CBFC चेयरमैन

हो गया फाइनल एलान. 25 जनवरी को रिलीज़ होगी ‘पद्मावत’. पिछले कुछ दिनों से ऐसी खबरों ने बाज़ार गर्म कर रखा था कि फिल्म में 5 बदलावों के साथ 300 कट भी लगाए गए हैं. अब ताज़ा सूत्रों की माने तो ऐसा कुछ भी नहीं है. ये कहना है सीबीएफसी के चेयरमैन प्रसून जोशी का. इन सभी खबरों का चेयरमैन प्रसून जोशी ने पूरी तरह से खंडन किया है. उनका कहना है कि फिल्म में किसी भी तरह की काट छांट नहीं की गई. मेकर्स ने 5 बदलावों के साथ फिल्म की फाइनल कॉपी जमा कर दी है इसके साथ ही फिल्म को U/A सर्टिफिकेट दे दिया गया है. 300 कट की खबरें पूरी तरह से गलत हैं.

पहलाज निहलानी ने सेंसर बोर्ड पर साधा निशाना, बोले- पद्मावती पर हुई सिर्फ वोट बैंक की सियासत

सेंसर बोर्ड ने संजय लीला भंसाली की फिल्म 'पद्मावती' को 26 कट और नाम बदलकर रिलीज करने का सुझाव दिया है। इस पर सेंसर बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष पहलाज निहलानी ने शनिवार को वोट बैंक की राजनीति का आरोप लगाया। उनका कहना है कि पद्मावती को लेकर बोर्ड चीफ पर काफी दबाव था कि इसे इलेक्शन के बाद रिलीज किया जाए। देशभर में विरोध-प्रदर्शन के बीच बीजेपी की सत्ता वाले 7 राज्यों ने फिल्म की रिलीज रोकने की बात कही थी। दरअसल, इसके बहाने राजनीतिक दलों ने राजपूतों की राजनीति की। 7.5 करोड़ राजपूत देश के 15 बड़े राज्यों में 450-500 विधानसभा सीटों पर असर डालते हैं। इसीलिए चुनाव से पहले बीजेपी और कांग्रेस दोनों पार्टियां फिल्म के खिलाफ खुलकर बोलीं।

फिल्म 'पद्मावती' को मिली सेंसर बोर्ड की मंजूरी, नए टाइटल के साथ होगी रिलीज!

सेंट्रल बोर्ड ऑफ फिल्म सर्टिफिकेशन (सीबीएफसी) की जांच समिति की बैठक के बाद पद्मावति को यूए सर्टिफिकेट के साथ हरी झंडी देने का फैसला किया है. सीबीएफसी ने फिल्म में कुछ परिवर्तन का भी फैसला किया है और इसी कड़ी में फिल्म का नाम पद्मावत किया जा सकता है. कमिटी की बैठक 28 दिसंबर को हुई थी. एक बार जरूरी और सहमति वाले सुधार हो जाने के बाद फिल्म को सर्टिफिकेट जारी किया जाएगा. 

सेंसर बोर्ड अध्यक्ष ने अभी नहीं देखी 'पद्मावती', संसदीय समिति के समक्ष पेश हुए भंसाली, प्रसून जोशी

फिल्म 'पद्मावती' इस समय पूरे देश में चर्चा का विषय बनी हुई है। पद्मावती के निदेशक संजय लीला भंसाली भी आईटी पर संसदीय समिति के सामने पेश हुए। उन्होंने फिल्म से जुड़े विवाद पर अपना पक्ष रखा। अनुराग ठाकुर की अध्यक्षता वाली इस समिति में भाजपा नेता एलके आडवाणी और कांग्रेस नेता राज बब्बर भी शामिल हैं।

पद्मावती को मंजूरी देने में तेजी लाने की फिल्ममेकर्स की मांग को सेंसर बोर्ड ने किया खारिज

सेंट्रल बोर्ड ऑफ फिल्म सर्टिफिकेशन (सेंसर बोर्ड) ने संजय लीला भंसाली की 'पद्मावती' के सर्टिफिकेशन में तेजी लाने की फिल्ममेकर्स की मांग ठुकरा दी। सेंसर बोर्ड ने सोमवार को कहा कि फिल्म का रिव्यू पहले से तय नियमों के मुताबिक ही होगा। इसके पहले कुछ पत्रकारों को फिल्म दिखाए जाने पर बोर्ड ने नाराजगी जाहिर की थी। फिल्म पर जारी विवाद के बीच रविवार को मेकर्स ने पद्मावती की रिलीज डेट 1 दिसंबर से आगे बढ़ाई थी। बता दें कि फिल्म में राजपूत राजाओं की परंपरा को गलत तरीके से दिखाने को लेकर करणी सेना और पूर्व राजघराने विरोध कर रहे हैं। यह भी पढ़ें:पद्मावती: शिवराज बोले- MP में नहीं रिलीज होगी फिल्म, अमरिंदर बोले: विरोध करने वाले सही

पद्मावती विवाद: प्राइवेट स्क्रीनिंग से सेंसर बोर्ड खफा, प्रसून जोशी बोले- नियमों का उल्‍लंघन हुआ

विवादों में फंसी फिल्म पद्मावती की प्राइवेट स्क्रीनिंग किए जाने से अब सेंसर बोर्ड ऑफ फिल्म सर्टिफिकेशन भी खफा हो गया है। उसने कहा है कि मूवी मेकर्स की ओर से ऐसा करना ठीक नहीं है। बता दें कि शुक्रवार को कुछ जर्नलिस्ट्स के लिए इस फिल्म की स्पेशल स्क्रीनिंग रखी गई थी।

सेंसर बोर्ड ने 'शुभ मंगल सावधान' को दिया U/A सर्टिफिकेट

आयुष्मान खुराना और भूमि पेडणेकर की अपकमिंग फिल्म ‘शुभ मंगल सावधान’ के मेकर्स के लिए राहत की खबर है. अब फिल्म बिना किसी काट-छांट के रिलीज होगी. सेंसर बोर्ड ने फिल्म को यू/ए सर्टिफिकेट भी दे दिया है. इससे पहले मेकर्स को उम्मीद थी कि सेंसर बोर्ड फिल्म को ‘ए’ सर्टिफिकेट देगी. फ़िलहाल सेंसर बोर्ड के इस रवैये से मेकर्स काफी खुश हैं. यह भी पढ़ें: 'शुभ मंगल सावधान' का नया गाना 'लड्डू' है बेहद मजेदार, आपने देखा

सेंसर बोर्ड का चीफ बनते ही प्रसून जोशी ने लगाई इस फिल्म पर रोक

बॉलीवुड के मशहूर गीतकार और एड गुरु प्रसून जोशी हाल ही में सेंसर बोर्ड के नए अध्यक्ष चुने गए. इस नयी जिम्मेदारी को लेकर प्रसून काफी खुश हैं. इस बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा था कि वो इंडस्ट्री का सम्मान करते हैं और हमेशा सही और सकारात्मक विचार वाले लोगों की राय पर चलने का प्रयास करेंगे. प्रसून ने ये भी कहा था कि वो अपनी जिम्मेदारी को बेहतर तरीके से निभाने का प्रयास करेंगे.

कंफ्यूज संस्था है सेंसर बोर्ड, पूर्व सीबीएफसी अध्यक्ष पहलाज निहलानी ने कहा

कुछ ही दिनों पहले सेंसर बोर्ड के अध्यक्ष पद से हटाए गए निहलानी ने हाल ही में इस पूरे मामले को लेकर अपनी चुप्पी तोड़ी है। पहलाज निहलानी का कहना है कि सेंसर बोर्ड के गाइडलाइन्स के अनुसार कहीं भी ऐसा नहीं कहा गया है कि फिल्म में कट नहीं लगाए जा सकते हैं। 

सेंसर बोर्ड लगाएगा 48 कट्स 'बाबूमोशाय बंदूकबाज' पर

बता दें, आपको बॉलीवुड एक्टर नवाजुद्दीन सिद्दकी की आने वाली फिल्म ‘बाबूमोशाय बंदूकबाज’ पर सेंसर बोर्ड कैंची चलाएगी. सेंसर बोर्ड ने फिल्म के कई सीन पर प्रॉब्लम जताते हुए इसमें 48 कट्स लगाने की बात कही है. सेंसर बोर्ड ने कहा है कि इस फिल्म को रिलीज करना है तो 48 कट्स लगाने ही होंगे. मीडिया से बातचीत के दौरान पहलाज निहलानी ने कहा कि 'हम केवल अपना काम कर रहे हैं.' यह भी पढ़े: फिल्म बाबुमोशाय बंदूकबाज का ट्रेलर हुआ रिलीज़, बिंदास लुक में दिखें नवाजुद्दीन

अमर्त्य सेन के बयान पर चली सेंसर की कैंची, कहा- गाय, हिंदू जैसे शब्दों को करें बीप

भारतीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड ने कोलकाता के सुमन घोष की वृत्तचित्र ‘द आर्ग्यूमेंटेटिव इंडियन’ में प्रख्यात विद्वान अमर्त्य सेन द्वारा कहे गए गुजरात, हिन्दू भारत, गाय और इंडिया का हिंदुत्ववादी दृष्टिकोण जैसे शब्दों को बीप करने के लिए कहा है.

अब फिल्मों में Hot सीन पर नहीं चलेगी कैंची, ये है सेंसर बोर्ड का नया प्लान

फिल्मों में एडल्ट कंटेंट को लेकर सेंसर बोर्ड और फिल्ममेकर्स की बढ़ रही तनातनी अब शायद खत्म हो जाएगी. क्योंकि फिल्म सेंसर बोर्ड(CBFC) ने श्याम बेनेगल कमेटी की ओर से सुझाए गए फिल्मों की कैटगरी बढ़ाने के सुझाव पर अमल करने का मन बना लिया है.

Page 1 of 1

Facebook