Search

Movie Review: पद्मावत

प्रोड्यूसर: संजय लीला भंसाली, सुधांशु वत्स, अजीत अंधारे
डायरेक्टर: संजय लीला भंसाली
स्टार कास्ट: दीपिका पादुकोण, रणवीर सिंह, शाहिद कपूर, अदिति राव हैदरी 
म्यूजिक डायरेक्टर: संजय लीला भंसाली, संचित बल्हरा
रेटिंग ****1/2

पद्मावत: रिलीज़ डेट में हुआ ये बदलाव, जानें अब कब होगी रिलीज़

विवादित फिल्म पद्मावत को लगता है किसी की काली नज़र लग गयी है. जैसे-तैसे कई बदलाव करके एक रिलीज़ डेट मिली थी. अब यो भी जाती रही. पहले इस फिल्म को 25 जनवरी यानि जनतंत्र दिवस से एक दिन पहले रिलीज़ किया जाना था. अब 25 जनवरी की जगह ये एक दिन पहले यानी 24 जनवरी को रिलीज होगी. हालांकि इस दिन फिल्म सिर्फ पेड प्रिव्यूज के लिए होगी. ‘पद्मावत’ के डिस्ट्रीब्यूटर्स 24 जनवरी की रात 9.30 बजे स्क्रीन होने वाले शोज का भुगतान करके उसकी जगह ‘पद्मावत’ को स्क्रीन करेंगे. इस दिन सिर्फ एक शो दिखाया जाएगा.

Padmaavat के निर्माता पहुंचे सुप्रीम कोर्ट, राज्‍यों में बैन के खिलाफ कल होगी सुनवाई

फिल्म पदमावत को लेकर विवाद लगातार जारी है। इस फिल्म के प्रोड्यूसर्स मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट पहुंच गए हैं। आपको बता दें कि फिल्म पदमावत को कई राज्यों में बैन कर दिया गया है। यह फिल्म 6 राज्यों हरियाणा, गोवा, गुजरात, मध्यप्रदेश, राजस्थान और उत्तराखंड में बैन है। 

अब हरियाणा में भी रिलीज नहीं होगी ‘पद्मावत’, राज्य सरकार ने लगाया बैन

संजय लीला भंसाली की फिल्म ‘पद्मावत’ पर विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है. राजस्थान, गुजरात, मध्य प्रदेश के बाद अब ये फिल्म हरियाणा में भी बैन हो गई है. मंगलवार को हरियाणा कैबिनेट की मीटिंग में ये फैसला हुआ. काफी मुश्किलों के बाद सेंसर बोर्ड से हरी झंडी मिलने के बाद ‘पद्मावत’ 25 जनवरी को देशभर में रिलीज हो रही है.

पहलाज निहलानी ने सेंसर बोर्ड पर साधा निशाना, बोले- पद्मावती पर हुई सिर्फ वोट बैंक की सियासत

सेंसर बोर्ड ने संजय लीला भंसाली की फिल्म 'पद्मावती' को 26 कट और नाम बदलकर रिलीज करने का सुझाव दिया है। इस पर सेंसर बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष पहलाज निहलानी ने शनिवार को वोट बैंक की राजनीति का आरोप लगाया। उनका कहना है कि पद्मावती को लेकर बोर्ड चीफ पर काफी दबाव था कि इसे इलेक्शन के बाद रिलीज किया जाए। देशभर में विरोध-प्रदर्शन के बीच बीजेपी की सत्ता वाले 7 राज्यों ने फिल्म की रिलीज रोकने की बात कही थी। दरअसल, इसके बहाने राजनीतिक दलों ने राजपूतों की राजनीति की। 7.5 करोड़ राजपूत देश के 15 बड़े राज्यों में 450-500 विधानसभा सीटों पर असर डालते हैं। इसीलिए चुनाव से पहले बीजेपी और कांग्रेस दोनों पार्टियां फिल्म के खिलाफ खुलकर बोलीं।

फिल्म 'पद्मावती' को मिली सेंसर बोर्ड की मंजूरी, नए टाइटल के साथ होगी रिलीज!

सेंट्रल बोर्ड ऑफ फिल्म सर्टिफिकेशन (सीबीएफसी) की जांच समिति की बैठक के बाद पद्मावति को यूए सर्टिफिकेट के साथ हरी झंडी देने का फैसला किया है. सीबीएफसी ने फिल्म में कुछ परिवर्तन का भी फैसला किया है और इसी कड़ी में फिल्म का नाम पद्मावत किया जा सकता है. कमिटी की बैठक 28 दिसंबर को हुई थी. एक बार जरूरी और सहमति वाले सुधार हो जाने के बाद फिल्म को सर्टिफिकेट जारी किया जाएगा. 

सेंसर बोर्ड अध्यक्ष ने अभी नहीं देखी 'पद्मावती', संसदीय समिति के समक्ष पेश हुए भंसाली, प्रसून जोशी

फिल्म 'पद्मावती' इस समय पूरे देश में चर्चा का विषय बनी हुई है। पद्मावती के निदेशक संजय लीला भंसाली भी आईटी पर संसदीय समिति के सामने पेश हुए। उन्होंने फिल्म से जुड़े विवाद पर अपना पक्ष रखा। अनुराग ठाकुर की अध्यक्षता वाली इस समिति में भाजपा नेता एलके आडवाणी और कांग्रेस नेता राज बब्बर भी शामिल हैं।

पद्मावतीः सुप्रीम कोर्ट ने बयानबाज नेताओं को दी नसीहत, रोक से इनकार

सुप्रीम कोर्ट ने पद्मावती को लेकर लगाई गई पिटीशन मंगलवार को खारिज कर दी। पिटीशन में फिल्म की रिलीज पर रोक लगाने की मांग की गई थी। सुनवाई के दौरान, कोर्ट ने कहा कि जिम्मेदार पद पर बैठे लोगों को कानून के मुताबिक काम करना चाहिए और फिल्म पर ऐसा कोई कमेंट नहीं करना चाहिए, क्योंकि ये मामला अभी सेंसर बोर्ड में लंबित है। ये कमेंट्स सेंसर बोर्ड के मेंबर्स के फैसले पर असर डाल सकते हैं। 

गुड न्यूज़ : तय तारीख पर ही रिलीज़ होगी पद्मावती

हिंदुस्तान की अब तक की सबसे विवादित फिल्म पद्मावती को काफी विरोध का सामना करना पड़ रहा है. परन्तु उनकी ये फिल्म यूके में 1 दिसंबर को ही प्रदर्शित हो रही है. ब्रिटिस बोर्ड ऑफ फिल्म सर्टिफेकेशन ने फिल्म को 1 दिसंबर रिलीज के लिए पास कर दिया है. फिल्म की रिलीज डेट को आगे बढ़ाने से पहले ही फिल्म को BBFC के पास भेजा गया था और बीबीएफसी ने इस फिल्म को बिना किसी कांट-छांट के 12 A सर्टीफिकेट के साथ पास कर दिया है.

‘पद्मावती’ गुजरात में नहीं होगी रिलीज, अब तक इन राज्यों में हुई बैन

संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावती पर सियासतदानों की नजरें लगातार टेढ़ी होती जा रही हैं. उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, पंजाब और हरियाणा के बाद अब गुजरात में भी फिल्म पद्मावती पर बैन लग गया है. आज सीएम विजय रुपाणी ने खुद इसका ऐलान किया. संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावती को अभी सेंसर ने कोई सर्टिफिकेट नहीं दिया है.

पद्मावती विवाद पर एकजुट हुआ बॉलीवुड, साथ आये कई बड़े दिग्गज़

फिल्म न हो गयी बखेड़ा खड़ा हो गया. कहीं संजय लीला भंसाली के पुतले और फिल्म के पोस्टर्स तो जलाए जा ही रहे हैं, तो कहीं कोई दीपिका पादुकोण की नाक-सिर काटना चाहता है. अब कुछ लोग दीपिका को भी जिंदा जला देना चाहते हैं. इस सारे बवाल के बाद फिल्म की रिलीज़ डेट तो टल ही गई है और फिल्म से जुड़े सितारों और उनके परिवारों की सुरक्षा भी चाक-चौबंदकी जा रही है 

आजम ने दिया पद्मावती को धार्मिक रंग, मुसलमानों ने तो नहीं किया था मुगले-ए-आजम का विरोध

संजय लीला भंसाली की फिल्म ‘पद्मावती’ को लेकर देशभर में छिड़ी बहस के बीच समाजवादी पार्टी के नेता आजम खान भी कूद पड़े हैं. आजम खान ने एक कार्यक्रम के दौरान कहा कि मुसलमानों का दिल बड़ा है. जब फिल्म मुगल ए आजम में अनारकली को सलीम की प्रेमिका बताया गया था जबकि हकीकत में ऐसा कुछ नहीं था. लेकिन इस फिल्म को लेकर किसी प्रकार का कोई विवाद नहीं हुआ था. मुसलमानों को अपने इतिहास पर यकीन है. 

पद्मावती विवाद: कमल हासन बोले, कलाकार की आजादी न छीनें

कमल हासन ने 'पद्मावती' के लिए दीपिका पादुकोण को सपोर्ट किया है। उन्होंने कहा कि दीपिका का सिर की इज्जत की जानी चाहिए। हरियाणा के बीजेपी नेता सूरजपाल अम्मू ने दीपिका और फिल्म के डायरेक्टर संजय लीला भंसाली का सिर काटकर लाने वाले को 10 करोड़ रु. देने का एलान किया था। बता दें कि पद्मावती की रिलीज डेट को एक दिसंबर से आगे बढ़ा दिया गया है। वहीं राजस्थान, मध्य प्रदेश और पंजाब सरकारों ने अपने यहां फिल्म रिलीज होने से मना कर दिया है।

पद्मावती विवाद के बाद दीपिका ने GES समिट से नाम लिया वापस, ट्रंप की बेटी और मोदी होंगे शामिल

अभिनेत्री दीपिका पादुकोण ने 'पद्मावती' फ़िल्म पर जारी विवाद के बीच हैदराबाद में 28 नवंबर को होने वाले ग्लोबल एंटरप्रेन्योरशिप समिट से अपना नाम वापस ले लिया है. इस सम्मेलन का उद्घाटन 28 नवंबर को होना है जिसमें अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप की बेटी इवांका और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी शिरकत करेंगे. दीपिका ने समिट में हिस्सा नहीं लेने की वजह का खुलासा नहीं किया है लेकिन माना जा रहा है कि फिल्म ‘पद्मावती’ पर विवाद इसकी वजह है.

विरोधियों के आगे झुके ये CM, इन दो राज्यों में नहीं रिलीज होगी 'पद्मावती'

संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावती पर सियासतदानों की नजर लगातार टेड़ी होती जा रही है. कई राज्यों के मुख्यमंत्री तक इस फिल्म के खिलाफ उतर आए हैं. इनका कहना है कि फिल्म के विवादित सीन हटाए जाए बिना इसे किसी कीमत पर प्रदर्शित नहीं होने दिया जाएगा. यह भी पढ़ें: पद्मावती को फिर सेंसर बोर्ड से झटका, कहा- नियमों के तहत ही मिलेगी मंजूरी

पद्मावती को मंजूरी देने में तेजी लाने की फिल्ममेकर्स की मांग को सेंसर बोर्ड ने किया खारिज

सेंट्रल बोर्ड ऑफ फिल्म सर्टिफिकेशन (सेंसर बोर्ड) ने संजय लीला भंसाली की 'पद्मावती' के सर्टिफिकेशन में तेजी लाने की फिल्ममेकर्स की मांग ठुकरा दी। सेंसर बोर्ड ने सोमवार को कहा कि फिल्म का रिव्यू पहले से तय नियमों के मुताबिक ही होगा। इसके पहले कुछ पत्रकारों को फिल्म दिखाए जाने पर बोर्ड ने नाराजगी जाहिर की थी। फिल्म पर जारी विवाद के बीच रविवार को मेकर्स ने पद्मावती की रिलीज डेट 1 दिसंबर से आगे बढ़ाई थी। बता दें कि फिल्म में राजपूत राजाओं की परंपरा को गलत तरीके से दिखाने को लेकर करणी सेना और पूर्व राजघराने विरोध कर रहे हैं। यह भी पढ़ें:पद्मावती: शिवराज बोले- MP में नहीं रिलीज होगी फिल्म, अमरिंदर बोले: विरोध करने वाले सही

Page 1 of 4

Facebook