Search

पद्मावतीः सुप्रीम कोर्ट ने बयानबाज नेताओं को दी नसीहत, रोक से इनकार

सुप्रीम कोर्ट ने पद्मावती को लेकर लगाई गई पिटीशन मंगलवार को खारिज कर दी। पिटीशन में फिल्म की रिलीज पर रोक लगाने की मांग की गई थी। सुनवाई के दौरान, कोर्ट ने कहा कि जिम्मेदार पद पर बैठे लोगों को कानून के मुताबिक काम करना चाहिए और फिल्म पर ऐसा कोई कमेंट नहीं करना चाहिए, क्योंकि ये मामला अभी सेंसर बोर्ड में लंबित है। ये कमेंट्स सेंसर बोर्ड के मेंबर्स के फैसले पर असर डाल सकते हैं। 

पद्मावती मंदिर पहुंची दीपिका, माँगा फिल्म के लिए आशीर्वाद

एक्ट्रेस दीपिका पादुकोण की मोस्ट अवेटेड फिल्म ‘पद्मावती’लगातार सुर्ख़ियों में बनी हुई है. अपनी इसी फिल्म के लिए दीपिका पादुकोण तिरुपति मंदिर दर्शन करने पहुंची. उनकी साथ फराह खान भी पहुंची थी. मंदिर में मौजूद सूत्रों ने बताया कि दीपिका ने न सिर्फ भगवान वेंकटेश्वर, अपितु देवी पद्मावती से भी आशीर्वाद लिया. देवी पद्मावती भगवान वेंकटेश्वर की पत्नी हैं और साथ ही उन्हें देवी लक्ष्मी का अवतार भी माना जाता है.

पद्मावती फिल्म की रिलीज पर रोक लगाने से SC का इनकार

संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावती पर बवाल खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है. ये मामला अब कोर्ट तक जा पहुंचा है. खबर है कि सुप्रीम कोर्ट ने फिल्म के रिलीज की अर्जी खारिज कर दी है. कोर्ट का कहना है कि सेंसर बोर्ड तय करेगा फिल्म रिलीज को लेकर क्या करना है. आपको बता दें करणी सेना और राजपूत संगठन समेत बीजेपी पार्टी ने भी फिल्म के रिलीज को लेकर आपत्ति जताई है, और बैन करने की मांग की है.

‘पद्मावती’ फिर विवाद में, राजस्‍थान में नहीं होगी रिलीज

विवादित फिल्म ‘पद्मावती’ का चारो तरफ पुरजोर विरोध हो रहा है. करणी सेना के बाद बीजेपी पार्टी भी इसका विरोध कर रही है. वहीं अभी खबर है कि राजस्थान के फिल्म डिस्‍ट्रीब्‍यूटों ने ‘पद्मावती’ से जुड़े विवाद के सुलझने तक राज्‍य में फिल्म रिलीज करने से ही मना कर दिया है. इससे पहले केंद्रीय मंत्री उमा भारती और गिरिराज सिंह भी इसका विरोध कर चुके हैं. इसके साथ ही तेलंगाना के विधायक टी. राजा सिंह के साथ ही उज्जैन से भाजपा सांसद चिंतामणि मालवीय भी संजय लीला भंसाली के निर्देशन में बनी फिल्म “पद्मावती” के परदे पर उतरने से पहले इसके विरोध में उतर आये हैं.

Page 1 of 1

Facebook